जिंदगी न मिलेगी दोबारा शायरी

Zindagi Na Milegi Dobara Shayari

जिंदगी न मिलेगी दोबारा मूवी को 11 जुलाई 2011 को रिलीज़ किया गया अगर हम इस मूवी के डायरेक्टर की बात करे तो वो है Zoya Akhtar है और लीड रोल में Hrithik Roshan के साथ में Farhan Akhtar, Abhay Deol अभिनय कर रहे है. यहाँ पर हम आपके साथ जावेद अख्तर के द्वारा लिखे शेरों को साँझा कर रहे है हमे उम्मीद है आपको ये पसंद आये गें.

साथ में हम आपके साथ जिंदगी न मिलेगी दोबारा मूवी के Dialogues भी शेयर करने वाले है क्योकि अपनी पसंदीदा मूवी के दर्शक Dialogues पढना पसंद करते है तो फिर चलिए शरु करते है.

Zindagi Na Milegi Dobara Shayari

दिलो में तुम अपनी बेताबियाँ लेके चल रहे हो तो जिंदा हो तुम.
नज़र में ख्वाबों की बिजलियाँ लेके चल रहे हो तो जिंदा हो तुम.
हवा के झोकों के जैसे आज़ाद रहना सीखो
तुम एक दरिया के जैसे लहरों में बहना सीखो.
हर एक लम्हें से तुम मिलो खोले अपनी बाहें
हर एक पल एक नया समां देखे ये निगाहें.
जो अपनी आखों में हैरानियाँ लेके चल रहे हो तो जिंदा हो तुम.
दिलो में तुम अपनी बेताबियाँ लेके चल रहे हो तो जिंदा हो तुम

एक बात होटों तक है जो आई नहीं
बस आँखों से है झांकती
तुमसे कभी मुझसे कभी
कुछ लब्ज है वो मांगती
जिनको पहन के होटों तक आ जाए वो
आवाज़ की बाहों में बाहें डाल के इठलाये वो
लेकिन जो ये एक बात है एहसास ही एहसास है
खुशबु सी जैसे हवा में है तैरती
खुशबु जो बेआवाज़ है
जिसका पता तुमको भी है, जिसकी खबर मुझको भी है
दुनिया से भी छुपता नहीं, ये जाने कैसा राज है।

पिघले नीलम सा बहता हुआ ये समां
नीली नीली सी खामोशियाँ
न कहीं है ज़मीन, न कहीं आसमान
सरसराती हुई टहनियाँ, पत्तियां
कह रहीं हैं की बस एक तुम हो यहाँ.
सिर्फ मैं हूँ..मेरी साँसें हैं..मेरी धड़कने
ऐसी गहराइयाँ, ऐसी तन्हाइयां,
और मैं… सिर्फ मैं..
अपने होने पे मुझको यकीन आ गया.

जब जब दर्द का बादल छाया,
जब गम का साया लहराया
जब आँसू पलकों तक आया,
जब ये तनहा दिल घबराया
हमने दिल को ये समझाया,
दिल आखिर तू क्यों रोता है.
दुनिया में युही होता है..
ये जो गहरे सन्नाटे हैं.
वक्त ने सब को ही बांटे हैं
थोडा गम है सबका किस्सा.
थोड़ी धुप है सब का हिस्सा
आँख तेरी बेकार ही नम है,
हर पल एक नया मौसम है
क्यूँ तू ऐसे पल खोता है.
दिल आखिर तू क्यूँ रोता है.

Dialogues

Yaar duniya mein kahin bhi chale jao log ek jaise hi hote hain. It’s just human nature. “Kabir”

Kisi ko kaho ki tumhe uske bare mein kuch pata hai and before you know it, sare secrets bahar nikal aate hain. “Kabir”

Aur kitni Baar sorry bolna padega? “Imran”

Jab tak yahan (dil) se na nikle na, tab tak. “Arjun”

Insaan ka kartavya hota hai koshish karna. Kamyabi nakamyabi sab uske haath mein hai. “Imran”

Agar bank mein ek hazar crore ho toh entertainment ke liye biwi ki kya zaroorat hai. “Arjun”

Zindagi Na Milegi Dobara All Poetry By Farhan Akhtar



जिंदगी न मिलेगी दोबारा मूवी ट्रेलर


क्या आपने इन्हें पढ़ा अगर नहीं पढ़ा तो जरुर पढ़े : –

Final Word

इस लेख के माध्यम से हमने आपके साथ जिंदगी न मिलेगी दोबारा शायरी, जिंदगी न मिलेगी दोबारा मूवी ट्रेलर, Zindagi Na Milegi Dobara Dialogues शेयर किये है साथ में हमने आपके साथ Youtube की विडियो भी शायरे की है जिन हे देख कर आपको अच्छा लगे गा.

हमे उम्मीद है आपको ये जानकारी जरुर से पसंद आई है इसी प्रकार की जानकारी के लिए हिंदी के लेख ब्लॉग के साथ बने रहिये गा दोस्तों भी जरुर से शेयर करे धन्यवाद!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here